ससुराल में घरेलू हिंसा होने के बाजूद भी, UPSC क्रैक करके 177वां रैंक हासिल किया जानिए।

Sports News Without Access, Favor, Or Discretion!

  1. Home
  2. kasuti khabar

ससुराल में घरेलू हिंसा होने के बाजूद भी, UPSC क्रैक करके 177वां रैंक हासिल किया जानिए।

ias


Haryana Khabar : देश के सबसे कठिन जिसको तमाम लोग देते हैं। लेकिन इस परीक्षा को कुछ लोग क्लियर कर पाते हैं। उन्हीं में से एक है शिवानी गोयल और सबसे ज़्यादा दिए जाने वाली परिक्षाओं में से एक है यह सिविल सर्विसेज़ की परीक्षा है, आपको दें कि उत्तर प्रदेश के हापुड़ की रहने वाली शिवांगी गोयल ने भी UPSC का ये एग्जाम क्लियर कर लिया और उनकी कहानी पढ़कर एस्पीरेंट्स ही नहीं नॉन एस्पीरेंट्स भी प्रेरित हो  जाएंगे। 


हिंसा से पीड़ित बेटी ने माता-पिता का नाम क्या उजागर
शिवांगी गोयल ने बात-चीत में बताया कि शादी से पहले उनका सपना था IAS बनने का और वह आईएएस बनना चाहती थीं साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि वह दो बार यूपीएससी की परीक्षादे चुकी है लेकिन उनको सफल परिणाम नहीं मिल पाया बता दे कि सन् 2014 में वे इंटरव्यू तक पहुंची थी। लेकिन कुछ मार्क्स से चूक गई।

ias

उन्हें लगा कि शादी के बाद भी वे परिक्षाएं दें पाएंगी, उन्हें लगा कि शादी के बाद ससुराल जाने के बाद भी यह अपनी परीक्षाओं को दे पाएंगी लेकिन शादी के बाद शिवानी की जो हालत हुई वह सुनकर आप हैरान हो जाएंगे।


हमारे हिंदू समाज में जहां पर लड़की को शादी के बाद ससुराल भेज दिया जाता है और फिर उसे बताया जाता है कि उसका ससुराल ही उसका असली घर है हमारे देश में आज भी बहुत सी महिलाएं दहेज उत्पीड़न का शिकार बन जाती हैं आपको बता दें कि शिवानी के माता पिता ने का पूरा सहयोग दिया  वे उनके माता-पिता ने उन्हें समझने की पूरी कोशिश की उनको बहुत प्रोत्साहन दिया |

ias

आपको बता दें कि शिवानी के माता-पिता एक बहुत ही अच्छी सोच विचार वाले होने की वजह से उन्होंने अपनी बेटी को जिंदगी में आगे बढ़ने की सलाह दी। बता दें कि शिवांगी ने भी दोबारा यूपीएससी की तैयारी शुरू की  और उन्होंने अपना सपना पूरा करने के लिए मेहनत में जुट गई और आखिर में उन्होंने यूपीएससी का एग्जाम क्रेक कर अपने परिवार का नाम ऊंचा किया
तलाक केस लड़ते लड़के यूपीएससी कृत किया।

AROUND THE WEB

Bollywood

Featured