राॅन्ग साइड स्कूल बस चलाना पड़ा महंगा, 3 बच्चों समेत 6 की मौत, कार से टकराई, जाने कैसे

Sports News Without Access, Favor, Or Discretion!

  1. Home
  2. crime

राॅन्ग साइड स्कूल बस चलाना पड़ा महंगा, 3 बच्चों समेत 6 की मौत, कार से टकराई, जाने कैसे

स्कूल बस


 Haryana khabar :गाजियाबाद में आज  सुबह दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर भीषण सड़क हादसा हो गया। नोएडा के एक निजी स्कूल की बस और कार में टक्कर हो गई। हादसे में एक परिवार के 6 लोगों की मौत हो गई है। इसमें 3 बच्चे भी शामिल हैं। दो लोगों की हालत नाजुक है। हादसा NH-9 पर क्रॉसिंग रिपब्लिक इलाके में सुबह करीब 7 बजे हुआ था।

हादसे की तस्वीरे

खाटू श्याम जा रहा था परिवार, 4 बच्चे भी थे
मेरठ के थाना इंचौली ​​​​​​के धनपुर गांव का रहने वाला परिवार TUV कार से खाटू श्याम के दर्शन करने जा रहा था। कार में 4 बच्चे भी सवार थे। तभी दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर विजय नगर फ्लाई ओवर के ऊपर गलत दिशा में आ रही स्कूल बस ने टक्कर मार दी। हादसे का CCTV भी सामने आया है।

इसमें दिख रहा है कि तेज रफ्तार बस रॉन्ग साइड से जा रही थी। तभी सामने से आ रही कार टकरा जाती है। कार में सवार लोग बुरी तरह फंस गए। जिन्हें पुलिस ने किसी तरह निकालकर अस्पताल भेजा। गनीमत रही कि जिस वक्त हादसा हुआ, उस समय स्कूल बस में बच्चे नहीं थे। 

8 किमी तक रॉन्ग साइड में चली बस, पुलिस बोली- सारी गलती बस ड्राइवर की
पुलिस के मुताबिक, हादसे में नरेंद्र यादव (45), उनकी पत्नी अनीता (42) और दो बेटे हिमांशु (12) और करकित (15) की मौत हुई। नरेंद्र के भाई धर्मेंद्र की पत्नी बबिता (38) और बेटी वंशिका (7) की भी मौत हुई है, जबकि धर्मेंद (48) और उनके बेटे आर्यन (8) गंभीर रूप से घायल हुए हैं। धर्मेंद्र खेती करते थे, जबकि नरेंद्र इलेक्ट्रॉनिक की दुकान चलाते थे।

बस हादसा

ADCP ट्रैफिक रामानंद कुशवाहा ने बताया, ''बस नोएडा के बाल भारती स्कूल की है। ड्राइवर दिल्ली से लौट रहा था। गाजीपुर में उसने CNG भरवाई और रॉन्ग साइड पर चल रहा था। इस हादसे में पूरी गलती बस ड्राइवर की है।"

बताया जा रहा है कि बस करीब 8 किलोमीटर तक रॉन्ग साइड में दौड़ी। बस ड्राइवर का नाम प्रेमपाल है। उसके नशे में होने की बात भी सामने आ रही है। पुलिस ने ड्राइवर को हिरासत में ले लिया है और उससे पूछताछ जारी है।
हादसे के बाद मवाना के इंचौली के धनपुर गांव में मातम छाया है। 6 लोगों की मौत के बाद एसडीएम अखिलेश यादव मृतक परिवार के घर पहुंचे और सांत्वना दी। इस दौरान ग्रामीणों की भीड़ लगी रही। ग्रामीणों ने बताया कि धर्मेंद्र और नरेंद्र का परिवार खाटू श्याम दर्शन करने जा रहा था। हादसे में नरेंद्र का पूरा परिवार खत्म हो गया। जबकि धर्मेंद्र की पत्नी और बेटी की मौत हो गई। धर्मेंद्र और उसका बेटा गंभीर रूप से घायल हैं।

AROUND THE WEB

Bollywood

Featured