हरियाणा के कुछ पंचायतों ने मुस्लिम व्यापारियों की एंट्री पर रोक, 50 पंचायतों ने जारी किया फरमान

Sports News Without Access, Favor, Or Discretion!

  1. Home
  2. Haryana

हरियाणा के कुछ पंचायतों ने मुस्लिम व्यापारियों की एंट्री पर रोक, 50 पंचायतों ने जारी किया फरमान

pic


Haryana khabar :  हरियाणा राज्य के मेवात जिले में हाल ही में हुई तनावपूर्ण घटनाओं के बाद, कुछ पंचायतों ने मुस्लिम व्यापारियों की एंट्री पर रोक लगाने के लिए पत्र जारी किया है। इस पत्र में यह धमकी दी गई है कि वे अपने मुस्लिम कर्मचारियों को नौकरी से निकालने के लिए दो दिन का अल्टीमेटम दे रहे हैं, अन्यथा उन्हें बहिष्कार कर देंगे।

नूंह जिला, जिसे पहले मेवात के नाम से जाना जाता था, हालांकि गुरुग्राम से सटे होने के बावजूद भी इसे पिछड़ा माना जाता है। नूंह में मुस्लिम आबादी की दरअसल 80 फीसदी है, जबकि हिंदू आबादी 20 फीसदी है। इस आबादी के बीच साक्षरता दर में भी दोगुना अंतर है। पुरुषों की साक्षरता दर जहां 70 फीसदी है, वहीं महिलाओं की 37 फीसदी भी नहीं है।

31 जुलाई को नूंह में हुई झड़प और दक्षिण हरियाणा के अन्य हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव के बाद, अब तीन जिलों की 50 पंचायतों ने एक फरमान जारी किया है। ये पंचायतें रेवाड़ी, महेंद्रगढ़ और झज्जर जिलों की हैं। इन पत्रों में सरपंचों के हस्ताक्षर हैं और उनमें मुस्लिम व्यापारियों की एंट्री पर रोक लगाने की मांग की गई है।

हरियाणा के कई जिलों में फैली थी नूंह हिंसा की आंच, जिसके बाद सरकारी बलों की तैनाती की गई थी। सामाजिक सौहार्द और विविधता को सुनिश्चित करने के लिए सरकार और समाज के नेता को सहयोग करने की आवश्यकता है ताकि ऐसी घटनाओं का समाधान हो सके और सभी समुदायों के बीच एकता बनी रह सके।

AROUND THE WEB

Bollywood

Featured