विद्यालय शिक्षा निदेशालय का बड़ा फ़ैसला कैसे देगा पैरेंट्स को राहत, जानिए क्या हैं फ़ैसला

Sports News Without Access, Favor, Or Discretion!

  1. Home
  2. Haryana

विद्यालय शिक्षा निदेशालय का बड़ा फ़ैसला कैसे देगा पैरेंट्स को राहत, जानिए क्या हैं फ़ैसला

school


Haryana Khabar : हरियाणा सरकार ने पैरेंट्स को शिकायतों को मध्यनजर रखते हुए फ़ैसला किया है की प्राइवेट स्कूलों में पैरेंट्स से मिलने के लिए कम से कम एक घंटा तय करके रखना होगा। साथ ही तय किए गए समय की जानकारी बच्चों की डायरी में लिखनी होगी और स्कूल में नॉटिस बोर्ड में भी दर्ज़ करनी होगी। सरकार द्वारा लिए गए इस फ़ैसले का नोटिस सभी प्राइवेट स्कूलों के प्रिंसिपल व प्रबंधकों को भेजा गया साथ ही इसका पालन करने का आदेश भी दिया।

जानकारी के मुताबिक पैरेंट्स ने शिकायत दर्ज़ करते हुए बताया की जब वह अपने बच्चों के बारे में जानकारी लेने स्कूल जाते हैं तो उन्हें घंटो वेटिंग रूम में या प्रिंसिपल ऑफिस में इंतजार करते रहना पड़ता हैं इसके बावजूद भीं कभी कभी तो उन्हें बिना प्रिंसिपल से मिले ही वापिस जाना पड़ता हैं। बिना वजह आने जाने से होने वाली परेशानी व पैसे खर्च से परेशान पैरेंट्स ने इसकी शिकायत विद्यालय शिक्षा निदेशालय में की।

जारी किए गया इस आदेश में कहा गया हैं की प्राइवेट स्कूलों को अपने समय से 1 घंटे का समय अपने बच्चों के लिए आने वाले पैरेंट्स को देना आवश्यक होगा। तय किया गया समय स्कूल के नॉटिस बोर्ड के साथ साथ बच्चों की होमवर्क डायरी में भी लिखना होगा।

school

इसकी जानकारी मिलने के बाद पैरेंट्स को राहत की सांस मिली तथा उन्होंने सरकार के इस फ़ैसले के लिए धन्यवाद भी किया। साथ की सरकार ने ये भी ऐलान किया की अगर कोई स्कूल इस फैसले का पालन नही करता हैं तो उसके खिलाफ सख़्त करवाई की जाएंगी।।


मान्यता मिलने के बाद प्राइवेट स्कूल तो मानों बिल्कुल निश्चित ही हो गए हों। शिक्षा निदेशालय विभाग ने मान्यता की जानकारी हेतु एक फॉर्म को और साथ जोड़ दिया हैं जिसमे स्कूल के प्रिंसिपल या प्रबंधक को स्कूल की सारी जानकारी देनी होगी। इसके लिए उन्हें केवल 1महीने का समय दिया गया हैं साथ की ये आवेदन ऑनलाइन होंगे इसके बारे में भी जानकारी दी गईं हैं।

सरकार के इस फ़ैसले से कुछ स्कूल प्रबंधक खुश दिखाई नहीं दे रहे उनका कहना हैं की सरकार का ये फैसला गलत हैं साथ ही उन्होंने कहा की ऐसा करने से भ्रष्टाचार भी बढ़ने के आसार ज्यादा होंगे। साथ ही उन्होंने पॉलिसी का शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर के सामने विरोध करने का भी कहा है। स्कूल संचालकों ने कहा है कि वह स्कूल मान्यता रिन्यू फॉर्म का बहिष्कार करेंगे।

AROUND THE WEB

Bollywood

Featured